भूगोल भारत नोट्स

चट्टानों के प्रकार

चट्टानों के प्रकार

चट्टान या शैल (रॉक) किसे कहते हैं ?

पृथ्वी की सतह के कठोर भाग को चट्टान या शैल कहते है। इसे उत्पत्ति के आधार पर तीन प्रकार में बाँटा गया है –

  1. आग्नेय चट्टाने (Igneous Rock)
  2. अवसादी चट्टाने (Sedimentary Rock)
  3. कायान्तरित चट्टाने (Metamorphic Rock)

चट्टान या शैल के प्रकार

इन तीनों का विस्तृत विवरण निम्नवत है-

1. आग्नेय चट्टान (Igneous Rock)

  • आग से बनी चट्टानें यानी ज्वालामुखी से निकले लावा, मैग्मा एवं धूल के कणों के ठंड़ा होने पर जो चट्टाने बनती है वे आग्नेय चट्टाने कहलाती है।
  • इन्हें प्राथमिक या मातृ शैल भी कहा जाता है।
  • इनमें परते एवं जीवाश्म नहीं पाये जाते ।
  • लोहा, निकिल, सोना, तांबा एवं जस्ता जैसे प्रमुख खनिज इसमें पाये जाते है।
  • आर्थिक रूप से सम्पन्न चट्टानें है।
  • आग्नेय चट्टान के उदाहरण – ग्रेनाइट, बेसाल्ट, पेग्माटाइट एवं बिटुमिनस आदि इसके प्रमुख उदाहरण है।

2. अवसादी चट्टान (Sedimentary Rock)

  • अवसादी चट्टानों का निर्माण आग्नेय चट्टान से ही होता है।
  • आग्नेय चट्टाने हवा व पानी की वजह से दूर जाकर जमने लगती है। इसी से अवसादी चट्टानों का निर्माण होता है।
  • आग्नेय चट्टान की परत दर परत जमने से अवसादी चट्टाने बनती है। अतः इन्हें परतदार चट्टाने भी कहा जाता है।
  • इन चट्टानों में जीवाश्म पाये जाते हैं ।
  • खनिज तेल और शैल गैस आदि पाया जाते है।
  • अवसादी चट्टान के उदाहरण – बलवा पत्थर, चूना पत्थर कोयला, डोलोमाइट, सेल चट्टान, संपिड, लिग्नाइट आदि इसके प्रमुख उदाहरण है।

3. कायान्तरित चट्टान (Metamorphic Rock)

  • ताप, दाब एवं रासायनिक क्रियाओं के कारण आग्नेय एवं अवसादी चट्टानों का रूप बदल जाता है। जिसे रूपांतरित या कायान्तरित चट्टान कहा जाता है।
  • ये दो प्रकार की होती हैं –
    • आग्नेय से कायान्तरित चट्टाने
      • ग्रेनाइट (आग्नेय) से नीस (कायान्तरित)
      • बेसाल्ट (आग्नेय) से सिस्ट (कायान्तरित)
    • अवसादी से कायान्तरित
      • बलुआ पत्थर (आग्नेय) से क्वार्टजाइट (कायान्तरित)
      • चूना पत्थर (आग्नेय) से संगमरमर (कायान्तरित)
  • कायान्तरित चट्टान के उदाहरण या रूपांतरित चट्टान के उदाहरण – ग्रेनाइट (आग्नेय) – नीस (कायान्तरित), बेसाल्ट (आग्नेय) – सिस्ट (कायान्तरित), बलुआ पत्थर (आग्नेय) – क्वार्टजाइट (कायान्तरित),चूना पत्थर (आग्नेय) – संगमरमर (कायान्तरित) आदि इसके प्रमुख उदाहरण है।

हमारे बारें में

एग्जाम टॉपर क्लास टीम

My Name is Jitendra Singh (Rana) और मैं एक सफल शिक्षक बनने की तैयारी कर रहा हूं ! और मैं लखनऊ, उत्तर प्रदेश (भारत) से हूँ।
मेरा उद्देश्य हिन्दी माध्यम में प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वाले प्रतिभागियों का सहयोग करना है ! आप सभी लोगों का स्नेह प्राप्त करना तथा अपने अर्जित अनुभवों तथा ज्ञान को वितरित करके आप लोगों की सेवा करना ही मेरी उत्कृष्ट अभिलाषा है !!
दोस्तो अगर आपको यह पोस्ट/विडियो/क्लास अच्छी लगी हो तो इसे Share अवश्य करें ! कृपया कमेंट के माध्यम से बताऐं कि ये पोस्ट आपको कैसी लगी आपके सुझावों का भी स्वागत रहेगा Thanks !

Leave a Comment