भूगोल (विश्व) नोट्स/ सामान्य अध्ययन

तापमान का वितरण  ( Temperature distribution )

तापमान का वितरण  ( Temperature distribution )

अक्षांश

तापमान अक्षांशों के अनुसार प्राप्त होता है विषुवत रेखा पर वर्षभर सूर्य की के लंबवत किरणों के कारण समान प्राप्त होता है जबकि ध्रुव पर सूर्य की किरण सीधे पड़ने के कारण तापमान न्युन रहता है

सागर तट से ऊँचाई

सर्वाधिक तापमान समुद्र तल पर पाया जाता है इसके उपरांत ज्यो ज्यो उपर जाते हैं तापमान कम होता जाता है वायुमंडल की निचली परतों में धूलकण जलवाष्प बादल आदि की अधिकता के कारण सूर्यताप का अधिक अवशोषण करते हैं

सागर तट से दूरी

समुद्र के तटवर्ती क्षेत्रों में समकारी जलवायु मिलती है इसके विपरीत महाद्वीपों के आंतरिक भागों में ताप की अनियमितता मिलती है

स्थल व जल का वितरण

स्थल शीघ्र गर्म होता है और शीघ्र ही ठंडा हो जाता है जबकि जल का स्वभाव इसके विपरीत होता है

समुद्री धाराएं

गर्म तथा ठंडी धाराएं अपने निकटवर्ती भागों के तापमान को नियंत्रित करती हैं

प्रचलित पवने

ध्रुवीय क्षेत्रों से आने वाली पवने ठंडी होने के कारण जिन क्षेत्रों में चलती हैं वहां का तापमान गिरा देती हैं इनके अतिरिक्त स्थानीय पवने भी तापमान के वितरण को प्रभावित करती है

धरातल का प्रभाव

धरातल

यदि मरुस्थलीय है तो सूर्यताप का अधिकार शोषण करता है जबकि हिमाच्छादित धरातल से सौर विकिरण का 70 से 90% प्रवर्तन हो जाता है

तापमान का प्रादेशिक वितरण

तापमान का वितरण
पृथ्वी तल पर तापमान का वितरण सभी जगह एक समान नही पाया जाताI तापमान के वितरण पर अन्य कारको की अपेक्षा अक्षांश का सर्वाधिक नियंत्रण होता हेI
प्राचीन यूनानवासियो को इस बात का ज्ञान था कि भूमध्य रेखा पर सर्वाधिक गर्मी पड़ती हे और उसके उत्तर या दक्षिण ध्रवों की तरफ तापमान क्रमश:कम होता जाता है

हमारे बारें में

J.S.Rana Sir

My Name is Jitendra Singh (Rana) और मैं एक सफल शिक्षक बनने की तैयारी कर रहा हूं ! और मैं लखनऊ, उत्तर प्रदेश (भारत) से हूँ।
मेरा उद्देश्य हिन्दी माध्यम में प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वाले प्रतिभागियों का सहयोग करना है ! आप सभी लोगों का स्नेह प्राप्त करना तथा अपने अर्जित अनुभवों तथा ज्ञान को वितरित करके आप लोगों की सेवा करना ही मेरी उत्कृष्ट अभिलाषा है !!
दोस्तो अगर आपको यह पोस्ट/विडियो/क्लास अच्छी लगी हो तो इसे Share अवश्य करें ! कृपया कमेंट के माध्यम से बताऐं कि ये पोस्ट आपको कैसी लगी आपके सुझावों का भी स्वागत रहेगा Thanks !

Leave a Comment