भूगोल भारत नोट्स

सौरमंडल के ग्रह The Planet Of The Solar System

सौरमंडल के ग्रह The Planet Of The Solar System

बुध Mercury

  • सूर्य से निकटतम ग्रह।
  • सूर्य की परिक्रमा 87 दिन 23 घंटे।
  • बुध का एक दिन पृथ्वी के 90 दिनों के बराबर।
  • परिणाम में पृथ्वी का 18वां भाग।
  • बुध पर वायुमंडल का आभाव है।

शुक्र Venus

  • सूर्य से दूसरा ग्रह तथा पृथ्वी से सर्वाधिक नजदीक ग्रह है।
  • सबसे अधिक चमकीला ग्रह कहा जाता है। प्रातः कल यह पूर्व में और सायंकाल में पश्चिम की ओर दिखायी देता है।
  • सर्वाधिक लम्बे दिन व रात होते हैं।
  • आकर औए द्रव्यमान में पृथ्वी के बराबर और स्वरूप में समान होने के कारण इसे पृथ्वी की बहन भी कहा जाता है।
  • वायुमंडल का घनत्व पृथ्वी के वायुमंडल की अपेक्षा 15 गुना है।

चंद्रमा Moon

  • व्यास-पृथ्वी के व्यास का लगभग एक चौथाई (3776 किमी.)।
  • गुरुत्वाकर्षण बल- पृथ्वी का 1/6 भाग।
  • चंद्रमा के पृथ्वी के चरों ओर घुमने की अवधि 27 दिन, 7 घंटे, 43 मिनट।
  • चंद्रमा के प्रकाश की पृथ्वी तक पहुँचने में लगा समय 1.3 सेकेण्ड।
  • रासायनिक संघटक – मुख्यतः सिलिकन, लोहा और मैग्नीशियम।
  • चंद्रमा पर वायुमंडल का आभाव होने के कारण वहां ध्वनि सुनाई नहीं देती है।
  • चन्द्रमा का उच्चतम पर्वत लिबनिज पर्वत (35,000 फीट) है।
  • चन्द्रमा के भौतिक भूगोल का अध्ययन करने वाले विज्ञान को सैलेनोग्राफी कहते हैं।
  • चंद्रमा का 54% भाग ही पृथ्वी से देखा जा सकता है।
  • चन्द्रमा का वह भाग जो पृथ्वी से नहीं देखा जा सकता है। सी ऑफ़ ट्रैन्क्विलिटी कहलाता है।
  • चंद्रमा पर करीब 30,000 क्रेटर हैं। क्लैवियस (सबसे बड़ा). टायको, कपरनिकस ये क्रेटर उल्कापतीय तथा ज्वालामुखीय हैं।
  • चन्द्रमा सूर्य की भांति भूमध्य रेखा के सन्दर्भ में उत्तरायन व दक्षिणायन होता है। चन्द्रमा 290उ. से 280द. के बीच 29.9 दिनों में भ्रमण करता है, जिसे संयुति मास कहते हैं।
  • पूरे सौरमंडल में सामान्य उपग्रह से बहुत बड़ा। यह पृथ्वी के आकार का ¼ है। सामान्य उपग्रह अपने मूल ग्रह के आकर का 8वां भाग होते हैं।
  • चन्द्रमा की पृथ्वी से अधिकतम दूरी 40336 किमी. व न्यूनतम दूरी 354340.8 किमी. है।
  • चंद्रमा की आयु 460 करोड़ वर्ष है।

पृथ्वी या नीला ग्रह Earth or Blue Planet

  • आकर में पृथ्वी का स्थान 5वां है।
  • आकार और बनावट में पृथ्वी शुक्र ग्रह के समान है।
  • अन्तरिक्ष से देखने पर पृथ्वी का रंग पानी व वायुमंडल के कारण नीला दिखायी देता है।
  • पृथ्वी का एकमात्र उपग्रह चंद्रमा है।

मंगल या लाल ग्रह Mars or Red Planet

  • सूर्य से चौथा ग्रह सूर्य की परिक्रमा- 1 साल, 321 दिन तथा आकार में अंडाकार है।
  • रासायनिक संघटक- कार्बन डाइऑक्साइड 95%, नाइट्रोजन 2-3%, आर्गन 2%, कुछ मात्र में बर्फ, अमोनिया तथा मीथेन भी पाई जाती हैं।
  • मंगल का सबसे ऊँचा पर्वत ज्वालामुखी निक्स ओलम्पिया।
  • मंगल के दो उपग्रह- फोबोस तथा डेमोस हैं।
  • मंगल व वृहस्पति के बीच क्षुद्र ग्रह मिलते हैं।

वृहस्पति Jupiter

  • सूर्य से 5वां ग्रह, सूर्य की परिक्रमा 11 साल, 315 दिन तथा 1 घंटा।
  • सौरमंडल का सबसे बड़ा ग्रह।
  • वृहस्पति ग्रह के 63 उपग्रह हैं, जिनमे गैनिमीड, कैलिस्टो, आयो यूरोपा आदि प्रमुख हैं। गैनिमीड सौरमंडल का सबसे बड़ा उपग्रह है।
  • वृहस्पति के लाल धब्बे की खोज पायनियर अंतरिक्ष अभियान द्वारा की गयी थी।
  • सबसे भारी ग्रह एवं इसका पलायन वेग सर्वाधिक (59.4 किमी. / सेकेण्ड) है।

शनि Saturn

  • आकाश में सौरमंडल का दूसरा सबसे बड़ा ग्रह।
  • टाइटन – कैसिनी ह्यूजेन्स मिशन – टाइटन उपग्रह  से सम्बंधित खोज।
  • शनि की सबसे बड़ी विशेषता – इसके चतुर्दिक वलय, जिनकी अब तक कुल ज्ञात संख्या 10 है।
  • रासायनिक संघटक – मुख्यतः हाइड्रोजन और हीलियम गैस, कुछ मात्र में मीथेन और अमोनिया
  • शनि के उपग्रह – 31
  • टाइटन शनि का सबसे बड़ा उपग्रह है, जो बुध के बराबर है। टाइटन पर नाइट्रोजनीय वातावरण और हाइड्रोकार्बन मिले हैं।
  • शनि के अन्य मुख्य उपग्रहों के नाम- मीमांस, एनसीलग्डू, टेथिस, रीया और फोवे आदि हैं।
  • सबसे कम घनत्व वाला ग्रह (0.7) है।
  • फोवे शनि की कक्षा के विपरीत परिक्रमा करता है।
  • शनि आँखों से देखा जाने वाला अंतिम ग्रह है।

अरुण Uranus

  • सूर्य से सातवां ग्रह।
  • आकार में तीसरा ग्रह तापमान 215 डिग्री सेल्सियस।
  • खोज 1781 ई. में सर विलियम हर्शेल द्वारा।
  • सूर्य की परिक्रमा करने में लगा समय 84 वर्ष, 6 दिन, 3 घंटे।

वरुण Neptune

  • सूर्य से 8वां ग्रह।
  • आकाश में सौरमंडल में चौथा सबसे बड़ा ग्रह।
  • इस ग्रह के चरों तरफ 5 वलय हैं।
  • कुल उपग्रह 11 हैं।
  • पहला उपग्रह ट्रिटोन है, दूसरा नेरिड है, अन्य उपग्रह N-1, N-2, N-3, N-4, N-5 आदि हैं।

खागोलीय पिंडों का नया वर्गीकरण The New Classification of Celestial Bodies

  • 24 अगस्त, 2006 को चेक गणराज्य के प्राग शहर में अंतर्राष्ट्रीय खालोगीय संघ (IAU) के 75 देशों के भूगोलवेत्ताओं ने भाग लिया, जिसमे ग्रहों की निम्नलिखित श्रेणियां बनायी गयीं।
  • पारंपरिक ग्रह – बुध, शुक्र, पृथ्वी, मंगल, वृहस्पति, शनि यूरेनस नेपच्यून।
  • प्लूटोंस – सेरिस व् ईरिस (जेना) जो नेपच्यून ग्रह से आगे लगभग वर्तमान सौरमंडल की सीमा से बाहर।
  • स्माल, सोकर सिस्टम बॉडीज – मंगल ग्रह व वृहस्पति की कक्षा के बीच बड़ी संख्या में उपग्रह एवं आकाशीय पिंड।

हमारे बारें में

एग्जाम टॉपर क्लास टीम

My Name is Jitendra Singh (Rana) और मैं एक सफल शिक्षक बनने की तैयारी कर रहा हूं ! और मैं लखनऊ, उत्तर प्रदेश (भारत) से हूँ।
मेरा उद्देश्य हिन्दी माध्यम में प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वाले प्रतिभागियों का सहयोग करना है ! आप सभी लोगों का स्नेह प्राप्त करना तथा अपने अर्जित अनुभवों तथा ज्ञान को वितरित करके आप लोगों की सेवा करना ही मेरी उत्कृष्ट अभिलाषा है !!
दोस्तो अगर आपको यह पोस्ट/विडियो/क्लास अच्छी लगी हो तो इसे Share अवश्य करें ! कृपया कमेंट के माध्यम से बताऐं कि ये पोस्ट आपको कैसी लगी आपके सुझावों का भी स्वागत रहेगा Thanks !

Leave a Comment