भूगोल (विश्व) नोट्स/ सामान्य अध्ययन

Globe ( ग्लोब ) अक्षांश तथा देशांतर रेखाएं ( Latitude and Longitude lines )

Globe ( ग्लोब )

अक्षांश तथा देशांतर रेखाएं ( Latitude and Longitude lines )

अक्षांश ( Latitude )

भूमध्य रेखा से भूतल पर स्थित किसी बिंदु की पृथ्वी के केंद्र से नापी गई कोणिक दूरी को अंक्षाश कहते हैं।  ग्लोब पर भूमध्य रेखा शून्य अंश अक्षांश (0°) से प्रदर्शित की जाती है।

जिसके उत्तर और दक्षिण की ओर अक्षांश का मान क्रमशः बढ़ता जाता है। ओर ध्रुव 90° अक्षांश द्रारा प्रदर्शित होते हैं। उत्तरी ध्रुव का अक्षांश 90° उतर तथा दक्षिणी ध्रुव का अक्षांश 90° दक्षिण होता हैं।

विषुवत वृत के उतर की सभी समांतर रेखाओं को उत्तरी अक्षांश तथा विषुवत वृत्त के दक्षिण में स्थित सभी समानांतर रेखाओं को दक्षिण अक्षांश कहा जाता हैं। इसलिए प्रत्येक अक्षांश के मान के साथ उसकी दिशा यानी उत्तर या दक्षिण को भी लिखा जाता है।

दो अक्षांश रेखाओं के मध्य की दूरी भूतल पर सर्वत्र लगभग समान होती है किंतु ध्रुवों के कुछ चपटपने के कारण ध्रुवीय भाग में यह दूरी कुछ बढ़ जाती हैं। भूमध्य रेखा पर 1° अक्षांश की दूरी 110.569 km. तथा ध्रुवो पर 111.700km. होती हैं।

देशांतर

ग्लोबस समान देशांतरण वाले स्थानों को मिलाने वाली रेखाएं देशांतर रेखाएं या याम्योत्तर कहलाती है  प्रत्येक देशांतर रेखा एक वृहत वृत होता हैं।

हमारे बारें में

J.S.Rana Sir

My Name is Jitendra Singh (Rana) और मैं एक सफल शिक्षक बनने की तैयारी कर रहा हूं ! और मैं लखनऊ, उत्तर प्रदेश (भारत) से हूँ।
मेरा उद्देश्य हिन्दी माध्यम में प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वाले प्रतिभागियों का सहयोग करना है ! आप सभी लोगों का स्नेह प्राप्त करना तथा अपने अर्जित अनुभवों तथा ज्ञान को वितरित करके आप लोगों की सेवा करना ही मेरी उत्कृष्ट अभिलाषा है !!
दोस्तो अगर आपको यह पोस्ट/विडियो/क्लास अच्छी लगी हो तो इसे Share अवश्य करें ! कृपया कमेंट के माध्यम से बताऐं कि ये पोस्ट आपको कैसी लगी आपके सुझावों का भी स्वागत रहेगा Thanks !

Leave a Comment