टीचिंग एप्टीट्यूड नोट्स बाल मनोविज्ञान नोट्स शिक्षाशास्त्र नोट्स

शिक्षण नीतियाँ का अर्थ, परिभाषा व विशेषताएँ Meaning, definitions and characteristics of teaching policies

शिक्षण नीतियाँ दो शब्दों से मिलकर बना है शिक्षण + नीतियाँ (Teaching and Strategies)। शिक्षण एक अन्त:क्रियात्मक प्रक्रिया है जो कक्षागत परिस्थितियों में वांछित उद्देश्यों को प्राप्त करने के लिए छात्र और शिक्षकों के द्वारा सम्पन्न की जाती है। नीतियाँ योजना, नीति, चतुराई तथा कौशल की ओर संकेत करती है। कौलिन इंगलिश जैम शब्दकोश (The Collin English Gem Dictionary 1988) के अनुसार नीति का अर्थ युद्ध कला तथा युद्ध कौशल है। इसको अधिकतर युद्ध में सेना को उचित स्थान (मोर्चे) पर खड़े करने की तथा लड़ने की कला के संदर्भ में प्रयोग किया जाता है। युद्ध विज्ञान की ‘नीति’ शब्द को शैक्षिक तकनीकी में लिया गया है। यहाँ पर नीतियों से अभिप्राय ऐसी कौशलपूर्ण व्यवस्था से है, जिन्हें कक्षागत परिस्थितियों में शिक्षक अपने उद्देश्यों को प्राप्त करने के लिए तथा छात्रों के व्यवहारों में वांछित परिवर्तन लाने के लिए करता है।

शिक्षण नीतियों की परिभाषाएँ

  1. डेविस (Davies) नीतियाँ शिक्षण की व्यापक विधियाँ हैं।¸
  2. स्टोन्स तथा मॉरिस (Stones and Morris) शिक्षण नीति, पाठ की एक सामान्यीकृत योजना है, जिसमें वांछित व्यवहार परिवर्तन की संरचना अनुदेशन के उद्देश्यों के रूप में सम्मिलित होती है साथ ही इसमें युक्तियों की योजनाएँ भी तैयार की जाती हैं।
  3. स्टे्रसर (Strasser) शिक्षण नीतियाँ वे योजनाएँ होती हैं जिसमें शिक्षण के उद्देश्यों, छात्रों के व्यवहार परिवर्तन, पाठ्य-वस्तु, कार्य-विश्लेषण, अधिगम अनुभव तथा छात्रों की पृष्ठभूमि आदि को विशेष महत्त्व दिया जाता है।¸

शिक्षण नीतियों की विशेषताएँ

  1. शिक्षण नीतियाँ, शिक्षण कार्यों के किसी प्रतिमान की ओर संकेत करती हैं।
  2. शिक्षण नीतियाँ, शैक्षिक उद्देश्यों की प्राप्ति में सहायक होती हैं।
  3. ये व्यवहार परिवर्तन के क्षेत्र में महत्त्वपूर्ण कार्य करती हैं।
  4. ये कार्य विश्लेषण और उसकी संरचना में महत्त्वपूर्ण हैं।
  5. ये शिक्षक की कार्य निष्ठा बढ़ाती हैं और उसकी शिक्षण कुशलता में वृद्धि करती हैं।
  6. ये शिक्षण प्रक्रिया को उन्नत तथा वैज्ञानिक आधर प्रदान करती हैं।
  7. इसके माध्यम से बुद्धि , अध्यवसाय, स्पष्ट चिन्तन तथा कार्यशालाओं के प्रत्यय का विकास होता है।
  8. शिक्षण नीतियों में शिक्षा दर्शन, अध्गिम सिद्धान्त, पृष्ठपोषण आदि तत्व निहित रहते हैं।
  9. ये शिक्षण प्रक्रिया को क्रमबद्ध तथा सार्थक बनाती हैं।

हमारे बारें में

एग्जाम टॉपर क्लास टीम

My Name is Jitendra Singh (Rana) और मैं एक सफल शिक्षक बनने की तैयारी कर रहा हूं ! और मैं लखनऊ, उत्तर प्रदेश (भारत) से हूँ।
मेरा उद्देश्य हिन्दी माध्यम में प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वाले प्रतिभागियों का सहयोग करना है ! आप सभी लोगों का स्नेह प्राप्त करना तथा अपने अर्जित अनुभवों तथा ज्ञान को वितरित करके आप लोगों की सेवा करना ही मेरी उत्कृष्ट अभिलाषा है !!
दोस्तो अगर आपको यह पोस्ट/विडियो/क्लास अच्छी लगी हो तो इसे Share अवश्य करें ! कृपया कमेंट के माध्यम से बताऐं कि ये पोस्ट आपको कैसी लगी आपके सुझावों का भी स्वागत रहेगा Thanks !

Leave a Comment