भौतिक विज्ञान नोट्स

प्रकृति के मूल बल The Basic forces of Nature

बल का नामआपेक्षिक प्रबलतापरासजिनके बीच लगता है
गुरुत्वाकर्षण बल10-11अनंतविश्व में स्थित सभी पिण्ड
दुर्बल नाभिकीय बल10-13बहुत कम, अवनाभिकीय आमाप (10-14 मी.) मेंमूल कण विशेषकर इलेक्ट्रॉन एवं न्यूट्रिनो
विद्युत-चुंबकीय बल10-2अनंतआवेशित कण
प्रबल नाभिकीय बल1लघु, नाभिकीय आमाप (10-15 मी.)न्यूक्लिऑन, भारी मूल कण

प्रकृति के विभिन्न बलों/प्रभाव क्षेत्रों के एकीकरण में प्रगति

भौतिकविद्वर्षएकीकरण संबंधी उपलब्धियाँ
आइजक न्यूटन1687खगोली तथा पार्थिव यांत्रिकी को एकीकृत किया : यह दर्शाया कि दोनों प्रभाव क्षेत्रों पर समान गति के नियम तथा गुरुत्वाकर्षण नियम लागू होते हैं।
हेंस क्रिश्चियन ऑस्टेड1820यह दर्शाया कि वैद्युत तथा चुंबकीय परिघटनाएँ एक एकीकृत प्रभाव क्षेत्र-विद्युत
माइकल फैराडे1830चुंबकत्व के अविच्छेद्य रूप है
जैम्स क्लार्क मैक्सवेल1873विद्युत-चुम्कत्व तथा प्रकाशिकी को एकीकृत किया, यह दर्शाया कि प्रकाश विद्युत-चुंबकीय तरंगें हैं।
शैल्डन ग्लाशोव, अब्दुस, सलाम, स्टीवन वीनबर्ग1979यह दर्शाया कि ‘दुर्बल’ नाभिकीय बल तथा विद्युत-चुंबकीय बल को एकल ‘विद्युत-दुर्बल’ बल के विभिन्न रूपों की भांति देखा जा सकता है।
कार्लो रूबिया, साइमन वान्डर1984‘विद्युत-दुर्बल’ बल के सिद्धांत के पूर्वानुमानों का प्रायोगिक रूप से सत्यापन किया

हमारे बारें में

एग्जाम टॉपर क्लास टीम

My Name is Jitendra Singh (Rana) और मैं एक सफल शिक्षक बनने की तैयारी कर रहा हूं ! और मैं लखनऊ, उत्तर प्रदेश (भारत) से हूँ।
मेरा उद्देश्य हिन्दी माध्यम में प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वाले प्रतिभागियों का सहयोग करना है ! आप सभी लोगों का स्नेह प्राप्त करना तथा अपने अर्जित अनुभवों तथा ज्ञान को वितरित करके आप लोगों की सेवा करना ही मेरी उत्कृष्ट अभिलाषा है !!
दोस्तो अगर आपको यह पोस्ट/विडियो/क्लास अच्छी लगी हो तो इसे Share अवश्य करें ! कृपया कमेंट के माध्यम से बताऐं कि ये पोस्ट आपको कैसी लगी आपके सुझावों का भी स्वागत रहेगा Thanks !

Leave a Comment